नवरात्रि में रखने जा रहे हैं ‘फलाहारी व्रत’, तो जान लें ये जरूरी बातें, नहीं बिगड़ेगी सेहत

Uncategorized

नौ दिनों तक चलने वाला नवरात्रि (Navratri 2022) का पर्व आज यानी 26 सितंबर 2022 से शुरू हो चुका है। नौ दिनों तक भक्त मां दुर्गा की पूजा-अर्चना करते हैं। साथ ही नौ दिनों तक उपवास भी रखते हैं। नौ दिनों के बाद कंजिका (कन्या) पूजन के साथ ये पर्व खत्म होता है। ऐसे में नौ दिनों तक व्रत रखने वाले लोग सिर्फ फलाहार ही करते हैं।

नवरात्रि को कैसे मनाया जाए, इसके लिए कोई निर्धारित दिशा-निर्देश नहीं है। दरअसल, नवरात्रि के व्रत रखने की मान्यता हर जगह के अनुसार अलग है। कहीं लोग पूरे नौ दिनों तक व्रत रखते हैं, तो कहीं आखिरी के दो दिन उपवास करते हैं। कहीं-कहीं तो लोग नवरात्रि के पहले और आखिरी दिन व्रत करते हैं। मान्यता और रीति-रिवाज चाहे जैसे हों, लेकिन सबका लक्ष्य एक ही होता है और वो है माता की भक्ति-आराधना। ऐसे में जो लोग पूरे नौ दिनों तक व्रत करते हैं, उन्हें अपनी डाइट पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है, ताकि शरीर में किसी तरह के पोषक तत्व की कमी न आए।

पहले ये जान लीजिए कि व्रत रखना केवल धार्मिक मान्यताओं से ही नहीं जुड़ा हुआ है, बल्कि इसके कुछ साइंटिफिक कारण भी होते हैं, जो सेहत के लिए लिहाज से अच्छे माने जाते हैं। दरअसल, सप्ताह में एक व्रत रखना स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है, क्योंकि इससे बॉडी को डिटॉक्स करने में मदद मिलती है। ऐसे में अगर आप व्रत रखते हैं, तो इससे आपको स्वस्थ रहने में मदद मिलती है। हालांकि, जो लोग 9 दिन तक उपवास करते हैं और सिर्फ फलों का सेवन करते हैं, उन्हें कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है। तो अगर आप भी शारदीय नवरात्रि में पूरे नौ दिन तक व्रत करने के बारे में सोच रहे हैं, तो हम आपको बताने जा रहे हैं, ऐसे फलों के बारे में, जिनका सेवन करना आपके लिए बहुत फायदेमंद रहेगा। दरअसल, व्रत के दौरान गेहूं, चावल, सूजी, मैदा, मकई का आटा, फलियां और दालें जैसी चीजें वर्जित होती हैं। इनके स्थान पर संवत के चावल (बरगद बाजरा), कुट्टू का आटा (एक प्रकार का अनाज का आटा), साबूदाना, राजगिरा, सिंघाड़े का आटे का सेवन किया जा सकता है।

इनके अलावा अगर आप फलों का सेवन करते हैं, तो उनके बारे में कुछ चीजों को जान लेना बहुत जरूरी है। फलों के आहार के लिए आवश्यक है कि आप जरूरी कैलोरी की पूर्ति के लिए ताजे फल, जैसे- केला, पपीता, अंगूर, सेब और जामुन खाएं। इसके अलावा आप नट्स, बीज और सब्जियों का भी सेवन कर सकते हैं।

इन फलों का करें सेवन
अगर आप भी व्रत रखने जा रहे हैं और व्रत में सिर्फ फलों का सेवन करने के बारे में सोच रहे हैं, तो आप अनार, सेब, अंगूर, पपीता, केले, संतरे, अमरूद और अनानास का सेवन कर सकते हैं। ये सभी फल विटामिन्स, फाइबर, पानी और जरूरी मिनरल्स से भरपूर होते हैं, जो शरीर को डिहाइड्रेट होने से तो बचाते ही हैं, साथ ही शरीर को ऊर्जावान बनाए रखने में भी मददगार होते हैं।

ड्राई फ्रूट्स का भी कर सकते हैं सेवन
शरीर की ताकत बनाए रखने के लिए आप ड्राई फ्रूट्स को भी अपनी डाइट मे शामिल कर सकते हैं। इसके लिए आप बादाम, पिस्ता, काजू, हेज़लनट्स, अखरोट और कुछ सीड्स जैसे- सूरजमुखी, कद्दू, और स्क्वैश बीज का सेवन कर सकते हैं।

फलों का सेवन करने के लिए वक्त का रखें ध्यान
फलों का सेवन करने का एक सही समय होता है। दरअसल, कुछ फल ऐसे होते हैं, जिन्हें सुबह नहीं खाने चाहिए। वहीं, कुछ फल ऐसे होते हैं, जो दोपहर या रात में खाने पर नुकसानदायक हो सकते हैं। आयुर्वेद की मानें, तो विटामिन सी से भरपूर फल जैसे संतरा सुबह के समय नहीं खाना चाहिए, अन्यथा इससे पेट में जलन और गैस्ट्रिक समस्या हो सकती है। वहीं, अंगूर को खाना खाने के बाद नहीं खाना चाहिए। इसके अलावा रात को तरबूज और केले का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे बॉडी का तापमान बढ़ सकता है। रात को सेब खाना भी हानिकारक हो सकता है, इससे पाचन और एसिडिटी की समस्या हो सकती है।आपको हमारी ये स्टोरी कैसी लगी? हमें कमेंट करके जरूर बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सलाह हो तो अवश्य दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *