निशा रावल ने ‘भाई’ संग अफेयर पर तोड़ी चुप्पी, पति करण पर लगाया ‘विक्टिम कार्ड’ खेलने का आरोप

Bollywood

टीवी जगत के फेमस कपल रहे करण मेहरा (Karan Mehra) और निशा रावल (Nisha Rawal) पिछले साल से ही अपने रिश्ते और लड़ाई-झगड़े को लेकर चर्चा में बने हुए हैं। निशा ने करण पर साल 2021 में घरेलू हिंसा के आरोप लगाए थे और तब से ही दोनों अलग रह रहे हैं।

करण ने कुछ दिनों पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में निशा पर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का आरोप लगाया था, अब निशा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की है, जिसमें उन्होंने करण के सभी आरोपों का खंडन किया है। पहले ये जान लीजिए कि करण और निशा ने 24 नवंबर 2012 को शादी रचाई थी। दोनों एक बच्चे काविश के माता-पिता हैं।

मई 2021 में निशा ने करण पर घरेलू हिंसा का आरोप लगाया और एफआईआर भी दर्ज कराई थी। तब से दोनों के बीच कानूनी लड़ाई चल रही है। दोनों एक-दूसरे से अलग रह रहे हैं। हालांकि, अभी ये दोनों कानूनी रूप से अलग नहीं हुए हैं। काविश फिलहाल अपनी मां निशा के साथ रहते हैं। वहीं, करण अपने बेटे काविश की कस्टडी लेना चाहते हैं।

4 अगस्त 2022 को करण मेहरा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी और जानकारी दी थी कि उनके पास पक्के सबूत हैं कि वह निर्दोष हैं और उनकी पत्नी ने उन्हें फंसाया है। इसके साथ ही उन्होंने अपनी अलग रह रही पत्नी पर अपने मुंहबोले भाई रोहित सेठिया संग एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर होने का आरोप भी लगाया था। अब निशा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की है और करण के इन सभी आरोपों का खंडन किया है।

12 सितंबर 2022 को निशा रावल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और अपने पति करण मेहरा द्वारा उन पर लगाए गए सभी आरोपों का खंडन किया। अभिनेत्री ने कहा कि वह किसी के प्रति जवाबदेह नहीं हैं और उन्होंने करण से सहानुभूति हासिल करना बंद करने को कहा। निशा ने कहा, “कृपया इसे बंद कर दें। यह एक नाटक बन रहा है और यह एक मीडिया ट्रायल बन रहा है। इसे सभ्य तरीके से करते हैं। मैं असुरक्षित महसूस करती हूं।

ऐसा करना बंद करो। मुझे अपने और अपने बच्चे के लिए डर लगता है। क्या होगा अगर कल, वह (उनका बच्चा) वीडियो देखता है, या क्या होगा अगर मैं घर से बाहर निकलती हूं और कोई मेरे बेटे के सामने कुछ कहता है? मैं सहानुभूति कार्ड नहीं खेल रही हूं, जबकि करण लोगों से सहानुभूति हासिल कर रहे हैं। मैं अपने बच्चे को एक अच्छे माहौल में बड़ा करना चाहती हूं और अगर करण मेहरा उसमें मदद नहीं कर सकते, तो कृपया पीछे हट जाएं। मुझे अपना जीवन जीने दो।”

निशा ने अपने और करण के मामले में गवाहों पर भी कटाक्ष किया और उन्हें अपने काम पर ध्यान देने के लिए कहा। उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया कि कैसे ये लोग उनके मामले को ड्रामा बना रहे हैं। इस बारे में उन्होंने कहा, “मैं इन लोगों पर ध्यान नहीं देना चाहती। मुझे लगता है कि उन्हें अपने काम पर ध्यान देना चाहिए। ये लोग इसे नाटक के तौर पर प्रेजेंट कर रहे हैं। क्या आप ऐसे दोस्ती निभा रहे हैं? आप बाहर जाकर इसके बारे में लापरवाही से बात कर रहे हैं। मैं जो कुछ भी कर रही हूं, अपने बच्चे के लिए कर रही हूं। अगर करण कुछ करना चाहते हैं, तो वह सही ढंग से कानूनी प्रक्रिया का पालन करें और उसके अनुसार लड़ाई लड़ें।”

आगे प्रेस कॉन्फ्रेंस में निशा ने दावा किया कि वह इस मामले को सनसनीखेज नहीं बनाना चाहती हैं, बल्कि न्याय पाने के लिए उचित कानूनी प्रक्रिया का पालन करती हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह शांतिप्रिय महिला हैं, जो शांति से अपना जीवन जीना चाहती हैं। इस बारे में उन्होंने कहा, “मैं शांतिप्रिय महिला हूं, मैं चाहती हूं कि वह शांति से अपना जीवन व्यतीत करें और मुझे अकेला छोड़ दें।”फिलहाल, निशा की इस प्रेस कॉन्फ्रेंस पर आपकी क्या राय है? हमें कमेंट करके जरूर बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सलाह हो तो अवश्य दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *